30.11.04

अक्षरग्राम का नया नाम

क्यूँकि अक्षरग्राम नाम थोड़ा फेंकू है, पङ्कज जी चाहते हैं कि कोई और नाम दिया जाए उसे। पर नाम क्या रखा जाए? नुक्कड़? पान की दुकान? चौपाल? - इस नाम का स्थल पहले ही है शायद गप्पोड़ी ? फ़ट्टेबाज़ ? दिमाग और काम नहीं कर रहा है। और सोचेंगे। इस बीच पता चला है कि आन्ध्र प्रदेश में डिजिटल सर्टिफ़िकेट मिलने वाले थे। लेकिन पता नहीं तेलुगु देसम की शिकस्त के बाद इसका क्या हश्र होगा।

1 टिप्पणी:

  1. और भी कुछ नाम सूझ रहे हैं,
    छींटाकसी, (या छींटाकशी?)
    कोलाहल
    शोर शराबा
    गुफ़्तगू
    हुल्लड़बाज़ी
    फ़ट्टे पेलो
    किर किर

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।