2.3.06

है, लेकिन असली माल नहीं

हिन्दिनी बता रही हैं कि चार सौ टके में ऍक्स पी बिकने वाला है। पर सम्भवतः इस स्टार्टर ऍडिशन में बहुत सी चीज़ें गोल होंगी। जब विण्डोज़ ऍक्स पी होम ही कई चीज़ें चला के नहीं देता तो इस चार सौ टके वाले संस्करण की क्या काबिलियत होगी। हाँ यह है कि सौ टके की सीडी कटवाने के बजाय शायद लोग इसे लेना शुरू कर दें।

1 टिप्पणी:

  1. सौ रुपए की नकल से तो चार सौ रुपल्ली की असल अच्छी। कम से कम कहने को तो होगा, कि हम असली साफ़्टवेयर प्रयोग करते है। हालांकि हम हिन्दुस्तानियों की आदत को देखते हुए लगता नही कि लोग चार सौ रुपये खर्च करेंगे।

    देखते हैं। बाकी बिल्लू का भाग्य।

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।