17.11.07

गुरुजी पर गुरुजी खोजिए + ब्लॉगर से हिंदी गायब

गुरुजी का हिंदी जालस्थल तो शायद पहले से ही था पर मैंने आज ही देखा। खोज करने पर पहला पन्ना काफ़ी धीरे आया पर परिणाम अच्छे हैं। अधिकतर भारतीय स्थल, जैसा कि गुरुजी कहते हैं। और मज़ेदार बात थी कि इनकी हिंदी काफ़ी अच्छी है, अनूदित सी नहीं लगती। इस बीच ब्लॉगर से हिंदी का विकल्प ही नौ दो ग्यारह हो गया है ऐसा लगता है। जब तक वापस नहीं आता है तब तक जापानी ही झेलो। ब्लॉगर-हिंदी-में-नहीं मतलब, ब्लॉगर का स्थल तो हिंदी में है, पर ब्लॉग्स्पॉट पर प्रकाशन का हिंदी वाला विकल्प ही गायब है। ब्लॉगर-हिंदी-में-पर ब्लॉग्स्पॉट नहीं शायद इस त्रुटि को ठीक कर रहे हों, कुछ समय बाद फिर वापस आजाए।

5 टिप्‍पणियां:

  1. हिन्दी का विकल्प काफी समय से गायब है। अच्छा है। वह था भी बेकार। एडिट करते समय पब्लिकेशन की तारीख/समय बदल देता था।
    आप को जापानी आते है - सो ठीक। अपने लिये अंग्रेजी अच्छी है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. एडिट करते समय पब्लिकेशन की तारीख/समय बदल देता था।
    यह मुझे नहीं पता था कि ऐसा केवल हिंदी विकल्प होने की वजह से होता था। क्या आपने इसका ब्यौरा ब्लॉगर वालों को दिया था?
    बेकार करार तब करें जब ब्यौरा देने के बाद भी वह ठीक न हो। इस्तेमाल ही बंद हो जाएगा तो त्रुटि ठीक कैसे होगी, और ठीक नहीं होगी तो इस्तेमाल कौन करेगा। :) ताज़ी त्रुटि भी तिथियों को ले कर ही है।

    जापानी मुझे नहीं आती है, पर यह समझना ज़रूरी है कि जिसे केवल हिंदी आती हो उसके लिए हिंदी का विकल्प न होना कितनी बड़ी समस्या है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. जगदीश भाटिया11:51 am

    अपन को तो जापानी की जगह डिब्बे नजर आ रहे हैं :(

    टिप्पण्णी कहां करनी है यह भी अंदाजे से क्लिक करने के बाद पता चला।

    उत्तर देंहटाएं
  4. यह कहना बिलकुल सही है कि जिसे केवल हिंदी आती हो उसके लिए हिंदी का विकल्प न होना कितनी बड़ी समस्या है!!

    उत्तर देंहटाएं
  5. जापानीकरण कोई नया फैशन है क्या?

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।