14.9.08

आज की कारस्तानियाँ

आज के दिन मैं नौ दो ग्यारह होने से पहले यह सब करते हुए धरा गया -
  • 19:29 ठण्डा पानी पी रहा हूँ। #
यह सेवा पेश की है लाउडट्विटर ने, उनको धन्यवाद।

3 टिप्‍पणियां:

  1. पानी तो ठण्डा है, मौसम-ए-लखनऊ कैसा था?

    उत्तर देंहटाएं
  2. मौसम कुछ घण्टों बाद उमसगीन हो गया था। पर अब सहारनपुर पार हो चुका है, नहीं जगाधरी। भारतीय रेल की बदौलत ठण्डक है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. साब अपने कण्ट्रोल में है

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।