3.11.08

डॉक्सीजॅन

आजकल डॉक्सीजॅन को आजमा रहा हूँ। बढ़िया चीज़ है। अपना काम अधिकतर सी प्लस प्लस में है लेकिन इसके जरिए जावा और सी प्लस प्लस दोनो के लिए एक ही तरह के दस्तावेज़ बनाए जा सकते हैं, और वह भी कूट के अन्दर ही अन्दर। बस देखना यह है कि दोनो पहिए एक साथ कब तक और कैसे चलते हैं।

6 टिप्‍पणियां:

  1. हमें तो ज्यादा समझ नहीं आया। यही अच्छा लगा कि आपने पोस्ट लिखी बहुत समय बाद।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया है! शायद XDoclet आपने देख रखा होगा।

    बता दें की आपके ब्लॉग की फीड से पोस्ट का शीर्षक नदारद रहता है और मसौदा गायब, जहमत उठा कर मूरीद को आपके ब्लॉग तक आना पड़ गया :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. दरअसल मुआमला यह है कि सही माल पाने के लिए आपको http://devanaagarii.net/hi/alok/blog/atom.xml की बू का पीछा करना होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ह्म्म, अपने काम की चीज़ नहीं है, C++ कॉलेज के बाद आज़माई नहीं और Java को छोड़े हुए अरसा हो गया!! :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. आभार जानकारी का.

    उत्तर देंहटाएं
  6. मूवी डाउनलोड करे फ्री में http://www.spideronweb.com/forum/

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।