1.12.08

पाकिस्तान के समुद्री तट का अधिग्रहण

एक शान्तिप्रिय देश होने के नाते भारत का फ़र्ज़ है कि पाकिस्तान के १०५० किमी लम्बे समुद्री तट से लगे भूभाग का अधिग्रहण कर ले। दो सौ किलोमीटर गहराई तक। कुल क्षेत्रफल दो लाख वर्ग किलोमीटर। बहुत अधिक नहीं है। इससे दोनो देशों को फ़ायदा होगा।

कुछ जानें जाएँगी, पर कुल मिला के पचास साल की अवधि में जान माल का नुकसान कम ही होगा।

 

यह रहा नक्शा।

 

क्या विचार है आपका?

 

 

4 टिप्‍पणियां:

  1. नौ मन तेल लाया जाये, तो राधा नाचें!
    वैसे अपने देश में ही अशान्तिप्रिय तत्व हैं, उनका क्या करें? उनके लिये क्या अधिग्रहण करें?

    उत्तर देंहटाएं
  2. भारत होता तब तो करता..ये तो इंडिया है..सेकुलर लिबरल इंडिया।
    वैसे आपके विचार से सहम‍िति है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम तो तकनीक सम्बंधित लेख पढ़ने आए थे, लगता है आपको भी इस फ़ाइव स्टार युद्ध ने हिला दिया है। वैसे ज्ञान जी के ज्ञान पर भी विचार करें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. पहले भारत को निर्णय का विवेक और आत्मज्ञान हो तब तो . बात सही है, और जरूरी भी .

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।