13.3.05

थोड़ा कहा बहुत समझना

पहले मैंने सोचा की माकाश क्या है। फ़िर पता चला कि ऍम आकाश है। उम्मीद है कि हिन्दी वाले छक्के अक्सर मारेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।