8.3.06

इण्डिया वर्ल्ड

यहाँ पर पहुँचा इस काका हाथरसी वाली कड़ी के जरिए - जो मुझे ई चर्चा से मिली। अब होली आ रही है तो काका हाथरसी की बात करना उपयुक्त ही है। उनका असली नाम प्रभुनाथ गर्ग है। यहाँ पर इनकी कई और रचनाएँ भी मौजूद हैं।

2 टिप्‍पणियां:

  1. bhaiya e-charcha me kis naam se charcha karte ho....

    उत्तर देंहटाएं
  2. ईचर्चा में मेरा नाम alok है। ईचर्चा से मेरा परिचय ईस्वामी ने कराया जो कि वहाँ पर zen के नाम से जाने जाते हैं।

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।