7.3.06

w3c इण्डिया

वाह। अच्छा खासा जाल स्थल बना डाला है। लगता है इसमें सीडॅक का हाथ है। वैसे मुझे इस स्थल का खुला जमाव बहुत अच्छा लगता है - फैले हुए, दूर दूर स्थित अक्षर, पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं आती।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।