10.6.07

अब पाक साफ़ बीयर हिन्दुस्तान में

अचरज खबर पढ़ के भी हुआ, और गुलाबी अङ्ग्रेज़ी अखबार में हिन्दी का लेख देख कर भी। मन्थन चल रहा है कि किस बात को ले के ज़्यादा अचरज हुआ। मन्थन करते करते होते हैं अब नौ दो ग्यारह।

3 टिप्‍पणियां:

  1. अनाम11:26 am

    नौ दो ग्यारह अभी बन्द नहीं हुआ है, जानकर अच्छा लगा.

    जवाब देंहटाएं
  2. अनाम11:31 am

    अंग्रेजी अखबार वह भी टाइमस का... उसमें हिन्दी में लेख!! इसे सात अजूबों में शामिल होना चाहिए.

    जवाब देंहटाएं
  3. सचमुच अचरच का विषय है। हमें तो हिन्दी का लेख देखकर ज्यादा अचरच हुआ।

    जवाब देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।