16.10.05

ब्लॉगर की फ़टी हुई है

वरुण को जो समस्या आई थी वही मुझे भी थी - 33 फ़ीसदी पे आ के प्रकाशन अटक जाता था। हिन्दी के बजाय अङ्ग्रेज़ी का जमाव कर के प्रकाशित किया तो ठीक हो गया। ब्लॉगर को सूचित करने का प्रयास असफल रहा। पर्चे में बार बार डाक पता ग़लत होने की त्रुटि दिखाता है, जबकि पता सही है। या खुदा! 28 अक्तूबर - सन्देश प्रेषण सफल रहा। देखते हैं आगे क्या होता है।

1 टिप्पणी:

  1. यह समस्या पिछले सप्ताह से थी. रचनाकार पर की गई पोस्टिंग गनीमत है कि आर्काइव हो गईं. वरना नए पोस्ट से तो ग़ायब ही हो गई थी. इसी दौरान मैं टैम्पलेट से खिलवाड़ कर रहा था और लगा कि इसी वजह से हुआ है!

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।