16.8.05

छन्दस्

एक और हिन्दी की मुद्रलिपि। अच्छी बात - संयुक्ताक्षर बहुत सारे हैं। बुरी बात - दिखने में उतना अच्छा नहीं है। लेकिन स्थल पर एक इण्डिक आई ऍम ई भी है, और माइक्रोसॉफ़्ट की मुद्रलिपि विकास सम्बन्धी फ़ाइलें भी हैं। पता नहीं - कि ये मुद्रलिपि कौन से लाइंसेंस के अन्तर्गत मौजूद है। मिहाइल बयारिन जी स्पष्ट कर दें तो कृपा होगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।