22.8.05

हिन्दवी

कुछ लोग, सोचते हैं, कुछ बाते बनाते हैं, और कुछ करते हैं। अभिषेक चौधरी करने वाले प्रतीत होते हैं। उम्मीद है मुलाकात होगी, जाल पर ही सही, और होती रहेगी। कड़ी के लिए रमण कौल को धन्यवाद।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।