18.6.08

नया फ़ायर्फाक्स ३ पिछले १२ घंटे में ४१ लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं - आप भी करें - इसमें हिन्दी प्रदर्शन की सारी समस्याएँ सुलझ गई हैं।

मोज़िला की गिनती बता रही है कि पिछले बारह घंटे में ४१ लाख बार फ़ायर्फ़ाक्स ३ उतारा जा चुका है। यह इंटर्नेट एक्स्पलोरर, ऑपेरा और सफ़ारी की तरह ही एक ब्राउज़र है जो कि बिल्कुल मुफ़्त, बहुत तेज़ और हिन्दी प्रदर्शन अच्छी तरह करने वाला है।

 

मोज़िला वाले, जो फ़ायर्फ़ाक्स बनाते हैं – आज रात यानी १८-जून-२००८ साढ़े दस बजे आपको फ़ायर्फ़ाक्स उतारने का न्यौता दे रहे हैं।

 

वैसे उतार तो आप बाद में भी सकते हैं पर कीर्तिमान स्थापित करना है न २४ घंटे में अधिकाधिक लोगों द्वारा उतारने का!

 

रचना जी ने तो उतार लिया है, और वह कह रही हैं कि हिन्दी प्रदर्शन में फ़ायर्फ़ाक्स में जो पहले समस्याएँ थीं, वह अब दूर हो चुकी हैं। आप भी जाइए फ़ायर्फ़ाक्स के स्थल पर, और आजमाइए इसे।

10 टिप्‍पणियां:

  1. apna link khola to sanjay begani ji kaa profile deekha , kyaa ab profile bhi hijack honey lagey haen

    उत्तर देंहटाएं
  2. जी हा, फायदा तो यही रहा कि हिन्दी बढिया दिखने लगी। बाकी आपका जोश बहुत अच्छा लग रहा है फॉयरफॉक्स के प्रति!

    उत्तर देंहटाएं
  3. रचना जी ठीक कर दिया है!

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. मैं भी फायरफ़ाकस की तेज गति का बहुत बड़ा प्रशंशक हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  6. आलोक जी मेरा मैने फायरफोक्स install किया सुन्दर है अच्छा है पर लगता साईट को जल्दी नही खोल रहा पहले वाले फायरफोक्स की तुलना मे। क्या वजह हो सकती है। कही कोई सेटिग तो नही करनी पडेगी। प्लीज मार्गदशर्न करे।

    उत्तर देंहटाएं
  7. भाई डाउनलोड करके मजा आ गया। पहले मैं जब कोई हिन्दी विकिपिडिया साइट खोलता था तो उसका यू आर एल बहुत ही विचित्र ढ़ंग से डिस्प्ले होता था। अब देवनागरी-युक्त यू आर एल भी बहुत ही साफ-साफ दिखायी दे रहा है।

    किन्तु इसमे एक नयी समस्या आ गयी है। अपनी हिन्दी विकि में जो अन्तर्निर्मित सम्पादित्र (यानी फोनेटिक ट्रन्सलिटरेशन बेस्ड एडिटर) है वह इसमे नहीं आ रहा है। हिन्दी विकि के ज्ञानीजनों को सुचित करता हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. डाउनलोड/इंस्‍टाल कर चुके... शानदार प्रदर्शन कर रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. हिन्दी अच्छी देखनी है तो फिर ई आग वाली लोमड़िया को काहे थामें, ऑपरा से अच्छी हिन्दी तो कोई भी नहीं दिखाता है और ऊ का नवा वर्ज़न 9.5 बहुत ही बढ़िया है, आज भी वैसी ही गति है जिसको पाने की कोशिश ई लोमड़िया करे है! ;)

    बाकी उतारे तो अपन कल ही लिए थे जब यह उपलब्ध हुआ था। बाद में सुना कि लोगों को उतारने में परेशानी आ रही थी क्योंकि मोज़िला के सर्वर टाइमआऊट हो रहे थे! ;)

    उत्तर देंहटाएं
  10. अमीत ने सही कहा, ऑपेरा भी जकाजक है.

    उत्तर देंहटाएं

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।