16.4.08

आज की कारस्तानियाँ

आज के दिन मैं नौ दो ग्यारह होने से पहले यह सब करते हुए धरा गया -
  • 07:47 बाई एक घंटा सुस्त #
  • 08:11 पन्ना खुलने का इन्तज़ार। जीपीआरऍस #
  • 11:49 मीठी मुलायग फूलगोभी #
  • 11:49 मुलायग नहीं मुलायम #
  • 11:53 गाय का दूध #
  • 11:54 दुह नहीं रहा हूँ, पी रहा हूँ #
  • 12:00 गाय - काओ, भैस - बफ़ैलन? #
  • 12:53 कॉफ़ी, उपर छिड़के पाउडर के साथ #
  • 13:31 $BlogItemTitle$ छप गया। जय हटमल देव! tinyurl.com/69v7ay #
  • 19:14 इडली #
यह सेवा पेश की है लाउडट्विटर ने, उनको धन्यवाद।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सभी टिप्पणियाँ ९-२-११ की टिप्पणी नीति के अधीन होंगी। टिप्पणियों को अन्यत्र पुनः प्रकाशित करने के पहले मूल लेखकों की अनुमति लेनी आवश्यक है।